You are in the archive Please visit our new homepage

बर्ज़िन आर्काइव्स

डॉ. अलेक्ज़ेंडर बर्ज़िन के बौद्ध लेखों का संग्रह

इस पेज के दृष्टिबाधित-अनुकूल संस्करण पर जाएं सीधे मुख्य नेविगेशन पर जाएं

होम पेज > हमारे बारे में > त्सेनशाब सेरकोँग टुल्कु का संदेश

त्सेनशाब सेरकोँग टुल्कु का संदेश

संदेश

22 नवम्बर, 2008

अलेक्स बर्ज़िन मेरे पूर्ववर्ती, पिछले त्सेनशाब सेरकोँग रिंपोछे के घनिष्ठ शिष्य और भाषांतरकार रहें हैं और इस जीवनकाल में भी हमारा घनिष्ठ रिश्ता अबाध रूप से जारी है। बर्ज़िन आर्काइव्स में एलेक्स द्वारा अनूदित मेरे पूर्ववर्ती की अनेक शिक्षाओं के साथ-साथ मेरे पूर्ववर्ती से ग्रहण की गई शिक्षाओं के आधार पर स्वयं अलेक्स द्वारा दी गई बहुत सी स्पष्ट व्याख्याएं संग्रहीत हैं। मुझे इस बात की बहुत प्रसन्नता है कि अलेक्स ने मेरे पूर्ववर्ती की गैर-सम्प्रदायवादी परम्परा को जारी रखते हुए अपनी वैबसाइट को इतने सारे लोगों को इतनी सारी भाषाओं में उपलब्ध कराने का सत्प्रयास किया है।

मेरी हार्दिक कामना है कि यह वैबसाइट और समृद्ध हो और भावी पीढ़ियों के लिए प्रामाणिक जानकारी और प्रेरणा का स्रोत बने। इस वैबसाइट से मिलने वाली अन्तर्दृष्टि वैबसाइट के उपयोगकर्ताओं के लिए शीघ्र ही ज्ञानोदय में फलीभूत हो, इसी कामना के साथ

 

[हस्ताक्षर]

 

सेरकोँग टुल्कु के संदेश वाले मूल दस्तावेज़ की स्कैन प्रति