चित्त का विज्ञान

चित्त को अशांत करने वाले मनोभावों को पराजित करने और अपने चित्त की पूरी क्षमता को विकसित करने के लिए हमें यह समझना होगा कि हमारा चित्त किस प्रकार काम करता है। बौद्ध मत चित्त का एक व्यापक खाका प्रस्तुत करता है जो हमारे मनोभावों की व्याख्या करता है और बताता है कि वैचारिक और निर्वैचारिक मनोदशाएं किस प्रकार काम करती हैं। इस ज्ञान का उपयोग करते हुए हम मान्य और त्रुटिपूर्ण विचारों के बीच भेद कर सकते हैं , अपने जीवन के अनुभवों के के वैचारिक अवयवों का विश्लेषण कर सकते हैं और अपने चित्त को नियंत्रित करने की विधि सीख सकते हैं।